“शरारती मेजबान” – केवल सदस्यों के लिए

सविता के घर में कुछ दिनों के लिए एक मेहमान आ रहा है और सविता के माता पिता किसी जरूरी कार्य से घर से बाहर रहेंगे तो उन्होंने फैसला किया कि जब वे घर से बाहर होंगे तो सविता उनके मेहमान की आवभगत करेगी।

एक बार को तो सविता को गुस्सा आया लेकिन जब उसे पता लगा कि उसके पिता के एक पुराने मित्र का बेटा आ रहा है और वह कॉलेज में पढ़ने वाला एक बांका नौजवान है तो सविता खुश हुई और उस मेहमान की सभी जरूरतों को पूरा करने को आतुर हो गई।

सविता ने एक अच्छी मेजबान की भूमिका निभाई अपने घर में आए भाग्यशाली मेहमान की हर कल्पना को पूरा करके !

सविता ने यह कैसे किया? देखें – “सविता अठारह बरस की” की दूसरी रोमांचक कड़ी में : शरारती मेजबान – सिर्फ़ savitabhabhi.com पर।

सविता के घर में कुछ दिनों के लिए एक मेहमान आ रहा है और सविता के माता पिता किसी जरूरी कार्य से घर से बाहर रहेंगे तो उन्होंने फैसला किया कि जब वे घर से बाहर होंगे तो सविता उनके मेहमान की आवभगत करेगी।

एक बार को तो सविता को गुस्सा आया लेकिन जब उसे पता लगा कि उसके पिता के एक पुराने मित्र का बेटा आ रहा है और वह कॉलेज में पढ़ने वाला एक बांका नौजवान है तो सविता खुश हुई और उस मेहमान की सभी जरूरतों को पूरा करने को आतुर हो गई।

सविता ने एक अच्छी मेजबान की भूमिका निभाई अपने घर में आए भाग्यशाली मेहमान की हर कल्पना को पूरा करके !

सविता ने यह कैसे किया? देखें – “सविता अठारह बरस की” की दूसरी रोमांचक कड़ी में : शरारती मेजबान – सिर्फ़ savitabhabhi.com पर।