सविता की पहली नौकरी

सविता अगले महीने अपने नए कॉलेज में जा रही है और वह वहाँ अपने पहले दिन ही सब पर अपना प्रभाव जमाना चाहती है लेकिन जब उसने अपने पापा से नए कपड़ों के लिए पैसे मांगे तो उन्होंने पैसे देने से मना कर दिया।

तो सविता ने कुछ पैसे कमाने के लिए अपने पापा के ही सुझाव से एक रेस्तराँ में एक वेट्रेस के रूप में अंशकालिक काम किया।

लेकिन उस रेस्तराँ का मालिक बड़ा बिगड़ैल है और वह सविता की पिटाई करता रहता है।

‘सविता अठारह बरस की’ की तीसरी कड़ी “सविता की पहली नौकरी” में देखिए कैसे सविता अपने सेक्सी आकर्षण के साथ ग्राहकों को लुभा कर उनसे इनाम प्राप्त करती रहती है – सिर्फ़ savitabhabhi.com पर।

सविता अगले महीने अपने नए कॉलेज में जा रही है और वह वहाँ अपने पहले दिन ही सब पर अपना प्रभाव जमाना चाहती है लेकिन जब उसने अपने पापा से नए कपड़ों के लिए पैसे मांगे तो उन्होंने पैसे देने से मना कर दिया।

तो सविता ने कुछ पैसे कमाने के लिए अपने पापा के ही सुझाव से एक रेस्तराँ में एक वेट्रेस के रूप में अंशकालिक काम किया।

लेकिन उस रेस्तराँ का मालिक बड़ा बिगड़ैल है और वह सविता की पिटाई करता रहता है।

‘सविता अठारह बरस की’ की तीसरी कड़ी “सविता की पहली नौकरी” में देखिए कैसे सविता अपने सेक्सी आकर्षण के साथ ग्राहकों को लुभा कर उनसे इनाम प्राप्त करती रहती है – सिर्फ़ savitabhabhi.com पर।