शादी का तोहफ़ा

सविता भाभी को अपनी बचपन की सहेली हेतल के विवाह का न्यौता मिलता है। हमेशा की तरह अशोक अपने ऑफिस के काम में व्यस्त रहता है जिससे सविता भाभी अकेले ही निकल पड़ती हैं। इसके बाद जो होता है उससे आप अपने दांतों तले उंगली दबा लेंगें। पढ़िए क्या होगा वो ख़ास गिफ्ट जो सविता भाभी अपनी बचपन की सहेली हेतल के होने वाले पति को देंगीं। यह कड़ी इसलिए भी ख़ास है क्यूंकि इसे सविता भाभी के एक फैन ने लिखा है।

सविता भाभी को अपनी बचपन की सहेली हेतल के विवाह का न्यौता मिलता है। हमेशा की तरह अशोक अपने ऑफिस के काम में व्यस्त रहता है जिससे सविता भाभी अकेले ही निकल पड़ती हैं। इसके बाद जो होता है उससे आप अपने दांतों तले उंगली दबा लेंगें। पढ़िए क्या होगा वो ख़ास गिफ्ट जो सविता भाभी अपनी बचपन की सहेली हेतल के होने वाले पति को देंगीं। यह कड़ी इसलिए भी ख़ास है क्यूंकि इसे सविता भाभी के एक फैन ने लिखा है।