सविता का विवाह

एक सहेली की शादी के उत्सव में दूल्हे के सुन्दर दोस्त को देख कर सविता को अपनी शादी याद आ जाती है।

सविता की सहेलियाँ यह सोच कर हैरान थी कि कामोत्सुक-कामातुर सविता शादी के बाद कैसे एक पुरुष के साथ अपना जीवन बिताएगी !

लेकिन अशोक के सबसे अच्छे दोस्त के अमेरिका से आते ही हालात एकदम बदल गए।

देखिए कि कैसे शर्मीली, “कुंवारी” सविता अपने नए देवर से शादी के बाद के लिए नए नए ढंग सीखती है !

यह प्रसंग बहुत उत्तेजक है, इसे देखना मत भूलें !

एक सहेली की शादी के उत्सव में दूल्हे के सुन्दर दोस्त को देख कर सविता को अपनी शादी याद आ जाती है।

सविता की सहेलियाँ यह सोच कर हैरान थी कि कामोत्सुक-कामातुर सविता शादी के बाद कैसे एक पुरुष के साथ अपना जीवन बिताएगी !

लेकिन अशोक के सबसे अच्छे दोस्त के अमेरिका से आते ही हालात एकदम बदल गए।

देखिए कि कैसे शर्मीली, “कुंवारी” सविता अपने नए देवर से शादी के बाद के लिए नए नए ढंग सीखती है !

यह प्रसंग बहुत उत्तेजक है, इसे देखना मत भूलें !