चोरी पकड़ी गयी

सविता के मकान मालिक  ने मकान का किराया बहुत अधिक बढ़ा दिया. सविता अच्छी तरह से जानती है कि मकान मालिक को मनाने के लिए उसे अपने आकर्षण का उपयोग कैसे करना है. लेकिन उसी समय मकान मालिक की पत्नी आ जाती है और फिर वो अशोक को सबकुछ बता देती है. अंततः अशोक को सविता की बेवफाई का पता चलता है.

सविता के मकान मालिक  ने मकान का किराया बहुत अधिक बढ़ा दिया. सविता अच्छी तरह से जानती है कि मकान मालिक को मनाने के लिए उसे अपने आकर्षण का उपयोग कैसे करना है. लेकिन उसी समय मकान मालिक की पत्नी आ जाती है और फिर वो अशोक को सबकुछ बता देती है. अंततः अशोक को सविता की बेवफाई का पता चलता है.