आदित्य

सात दोस्तों का एक समूह सप्ताहांत की छुट्टी मनाने निकला है। सातों दोस्त वहाँ अपने यौन अनुभवों को आपस में बताना शुरु करते हैं। इस श्रृंखला का प्रत्येक प्रसंग उन अनुभवों में से एक को दिख़ाता है और छिपे रहस्यों को बाहर लाता है। सप्ताह के अंत में अप्रत्याशित घटनाएँ घटती है और अंत में जब यह सब समाप्त होता है तो कुछ भी वैसा नहीं रहता जैसा पहले था !

सात दोस्तों का एक समूह सप्ताहांत की छुट्टी मनाने निकला है। सातों दोस्त वहाँ अपने यौन अनुभवों को आपस में बताना शुरु करते हैं। इस श्रृंखला का प्रत्येक प्रसंग उन अनुभवों में से एक को दिख़ाता है और छिपे रहस्यों को बाहर लाता है। सप्ताह के अंत में अप्रत्याशित घटनाएँ घटती है और अंत में जब यह सब समाप्त होता है तो कुछ भी वैसा नहीं रहता जैसा पहले था !